Breaking News

युवा समाजसेवी ने वृद्वजनो व अनाथ बच्चो संग मनाया जन्मदिन,बांटे फल व मिठाई


(मोहनलालगंज कस्बे में रहने वाले युवा समाजसेवी अविचल शुक्ला ने वृद्वाश्रम व अनाथालय में पहुंचकर मनाया अपना जन्मदिन,वृद्वजनो व बच्चो को बांटे फल व मिठाई,कराया भोजन)


मोहनलालगंज।खुद के लिए तो हर कोई जीवन जीता है लेकिन कम ही लोग होते हैं, जो दूसरों की खुशी में अपनी खुशी ढूंढते हैं।मोहनलालगंज मे रहने वाले युवा समाजसेवी अविचल शुक्ला ने इसी बात का उदाहरण हैं। इन्होंने शनिवार को अपना जन्मदिन अपने उस परिवार के साथ मनाया, जो इनका न होकर भी इनका अपना है।युवा समाजसेवी ने शनिवार को पीजीआई के साउथसिटी में स्थित चशायर होम पहुंचकर वृद्धजनो व मोहनलालगंज के ज्योतिनगर में स्थित आशालयम् पहुंचकर अनाथ बच्चो के साथ अपना जन्मदिन मनाया।दोनो ही जगह समाजसेवी ने वृद्वजनो व बच्चो के हाथो अपने जन्मदिन का केक कटवाकर उन्हे फल,मिठाई,केक वितरित करने के साथ ही स्वादिष्ट भोजन भी कराया। मौका यदि जन्मदिन का हो और धूमधड़ाके के साथ पार्टी न हो यह बात हजम नहीं होता।

लेकिन आज भी कई युवा ऐसे हैं, जो आधुनिकता की चकाचौंध से दूर रहकर बड़ी सादगी के साथ अपना जन्मदिन मनाते हैं। ऐसे ही युवाओं में से एक हैं मोहनलालगंज के युवा कारोबारी अविचल शुक्ला ,जिन्होंने अपने जन्मदिवस के अवसर पर धूमधड़ाका के साथ पार्टी करने के बजाय दीन-दुखियों की सेवा को प्राथमिकता दी है।उन्होने कहा कि महंगे होटलों और रिसोर्ट में जन्मदिन मना कर वो आत्मिक शांति नहीं मिलती जो बेसहारा और गरीब लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखने से मिलती है।समाजसेवी अविचल ने बताया कि चाहे कैसी भी खुशी हो उनका प्रयास यही रहता है कि वे उसे वंचित वर्ग के साथ बांटें जिससे भले ही कुछ देर के लिए ही सही उन्हें भी खुशी मिलेगी और वे दिल से दुआएं देंगे।इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार अनुपम मिश्रा,सतेन्द्र मिश्रा, अधिवक्ता हिमांशु तिवारी,अभय सिहं,वरूण राय,निश्वल शुक्ला,पुनीत सिहं,आदित्य दीक्षित समेत काफी संख्या में युवा मौजूद रहे।

अपनों के प्यार से महरूम लोगों को सम्मान की जरूरत……
अपने जन्मदिन पर युवा समाजसेवी अविचल शुक्ला ने कहा कि हमनें इसे इस तरीके से सेलिब्रेट करने को सोचा कि जो लोग अपनों के प्यार से महरूम और वंचित हैं, उनको प्यार और सम्मान की जरूरत है। ये वो सम्मान और प्यार है, जो उन्हें अपने बच्चो के द्वारा नहीं मिला। हमनें सोचा आज उनको परिवार वाला टच दिया जाए, वो फील कराया जाए इसलिए वृद्वाश्रम व अनाथालय में जन्मदिन मनाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!